दाद खाज खुजली को ठीक करने के इलाज – दाद खुजली को अंग्रेजी में फंगल fungal infection कहा जाता है। दाद खुजली ऐसी होती है जो बढ़ती है। दाद खुजली उन जगहों पर होती जहां पर पसीना बहुत ज्यादा आता है और हवा नहीं लगती।

आज के article में हम बात करेंगे दाद खुजली को जड़ से कैसे खत्म कर सकते हैं और इसके लिए कुछ दवाइयां और cream के बारे में तो चलिए शुरू करते हैं

सबसे पहले हम आपको बताएंगे दाद को जड़ से खत्म करने के कुछ उपाय

neem गिलोय और alovera का सेवन। यह खून को साफ करने का काम करते हैं जिससे दाद की खुजली जड़ से खत्म हो सकती है।

दाद होने पर चीनी और नमक दोनों का कम से कम सेवन करना चाहिए।

साफ सफाई रखना जितना हो सके गंदगी से दूर रहना।

दाद खाज खुजली की अंग्रेजी दवा (cream) -दाद खाज खुजली की दवा कौन सी है?

दाद खाज खुजली हमेशा के लिए खत्म करें – आजकल बाजार में हर चीज की दवा आती है
बीमारी की आयुर्वेदिक और अंग्रेजी दोनों तरह की दवाइयां बाजार में उपलब्ध है।

बात की जाए दाद खाज खुजली की तो इसके लिए भी बाजार में कई सारी अंग्रेजी दवाएं आती है।

इन्हीं कुछ दवाइयों क्रीम के बारे में नीचे बताया गया है।

1 .पीलेक्स फोर्टो।

2 .फंगी क्रॉस क्रीम।

3 .हिमालय एंटीसेप्टिक।

4 .लुलीगी क्रीम।

5 .सिपलाडिन।

6 .क्लीन एंड ड्राई क्रीम।

7 .डर्मिफोर्ड क्रीम।

8 .किस्किन स्किन एंड इनफेक्शन केयर क्रीम।

दाद खाज खुजली को जड़ से मिटाए ?- खाज खुजली को हमेशा के लिए खत्म करें?

खुजली का रामबाण उपाय – दाद खाज खुजली को जड़ से मिटाने के लिए कई सारे घरेलू नुस्खे तो है ही इनके अलावा बाजार में भी कई तरह की आयुर्वेदिक और अंग्रेजी दवाइयां आती हैं जिन से दाद खत्म किया जा सकता है।

यह दाद दिखने में भी बहुत गंदे लगते हैं। दाद एक तरह का skin infection होता है जो खून में गंदगी की वजह से होता है।

अगर बात की जाए घरेलू नुस्खा से दाद को मिटाने की तो आप नीम के पानी से नहाए और healthy खाना खाए।

दाद खाज खुजली की अंग्रेजी दवा tablet – dad khaj khujali ki angreji dava ka naam kya hai?

दाद को खत्म करने के लिए कई सारी अंग्रेजी दवा tablet भी उपलब्ध है।
अगर आपको दाद की परेशानी है तो आप यह कुछ tablet है जो try कर सकते हैं।

1 .थायोट्रेस स्ट्रिप।

2 .फंगी क्रॉस नेल।

3 .सींग प्योर टेबलेट।

4 .लूली फोर्ड एंटीफंगल टेबलेट।

5 .टॉक्सो मोक्स टैबलेट।

दाद को जड़ से खत्म करने के लिए आयुर्वेदिक दवाइयां – ayurvdeic medicines for fungal infevtions.

1 .पुनर्नवा आयुर्वेदिक।

2 .मेनसम एंटीबैक्टीरियल एंटीफंगल बॉडी वॉश।

3 .पतंजलि त्रिभुवनकीर्ति।

4 .कपिवा नीम जूस।

5 .होम्योपैथिक त्वचा रोग।

6 .डरमाहर्ब आयुर्वेदिक स्किन केयर।

7 .अमृतम नीम ऑयल।

khujli ka best lotion – दाद खाज खुजली के लिए बेस्ट लोशन क्या है?

अब हम आपको बताते हैं कि खुजली के लिए सबसे best lotions के बारे में –

1 .स्केबोमा लोशन।

2 .कैंडिड लोशन।

3 .केलेड्रायल लोशन।

4 .फंगीसाइड लोशन।

5 .लूलीगी लोशन।

दाद खाज खुजली होने के कारण – daad ka ilaj kya hai?

दाद खुजली यानी कि फंगल इनफेक्शन skin पर ज्यादा पसीना आने की वजह से bacteria से होता है।

दाद खुजली बढ़ती है। खुजली करने के साथ-साथ
दाद खुजली ज्यादा से ज्यादा पसीना आने और हवा ना लगने वाली जगह पर होती है जैसे कि कांछ, private area या ऐसी जगह जहां skin के बीच में जगह न रहती हो।

हमने आपको बताया कि आप दाद खुजली का इलाज कैसे कर सकते हैं।
अब आपके लिए जाना भी जरूरी है कि दाद खुजली किन कारणों से होती है।
तो चलिए शुरू करते हैं:-

ज्यादा गर्मी की वजह से ज्यादा पसीना आने पर फंगल इनफेक्शन fungal infection या दाद हो सकते हैं।

किसी संक्रमित इंसान के संपर्क में आने से।

ज्यादा टाइट कपड़े पहनने से क्योंकि ज्यादा टाइट कपड़े पहनने से ज्यादा पसीने आते हैं और हवा नहीं लग पाती जिसके कारण दाद हो सकते हैं।

immune system कमजोर होने के कारण से इम्यून सिस्टम immune system कमजोर होने से हमारे शरीर में रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता खत्म हो जाती है।

दाद रोग के लक्षण क्या हैं? – bada Rog ke lakshan kya hai?

दाद खाज खुजली के लक्षण तथा उपाय – अब बात करते हैं दाद रोग के लक्षण लक्षणों के बारे में।
यह जानना भी आपके लिए बहुत जरूरी है कि दाद रोग के क्या लक्षण होते हैं ।

सबसे पहला लक्षण है खुजली शुरू होना जिसकी वजह से हल्का लाल या गुलाबी चक्का सा बन जाना skin पर।

skin पर छाले जैसी परत बनना और फिर घाव बन जाना।

खुजली के साथ-साथ छोटी-छोटी फुंसियां होना।

skin itching problem solution – त्वचा की खुजली की समस्या का समाधान।

tvacha kee khujalee kee samasya ka samaadhaan – अगर आपको स्किन itching दाद या कोई fungal infection है तो इसके लिए डॉक्टर से संपर्क करें और इसके अलावा आप घर पर भी कुछ उपाय कर सकते हैं।

कुछ उपायों के बारे में नीचे बताया गया है।

सबसे पहला एलोवेरा, एलोवेरा एक बहुत ही अच्छा एंटी बैक्टीरियल anti bacterial है
इसके इस्तेमाल से आपको itching से राहत मिल सकती है।

नीम और तुलसी, नीम एंटीबायोटिक antibiotic और antibcterial है नीम के पानी से नहाने से भी skin infections खत्म होते हैं।

जैतून का तेल यानी olive oil . जैतून का तेल लगाने से भी skin infections ठीक होते हैं।

दालचीनी पाउडर ,दाद या फंगल इन्फेक्शन fungal infection की जगह पर दालचीनी का पाउडर पानी के साथ मिलाकर लगाने से fungal infection ठीक होता है।

ring guard cream uses – रिंग गार्ड क्रीम का उपयोग कैसे करें?

Ring guard cream use in Hindi – रिंग गार्ड क्रीम एक एंटी फंगल anti fungal infection है जिसका इस्तेमाल फंगल इन्फेक्शन के treatment के लिए किया जाता है।

  फंगल इंफेक्शन fungal infection यानी दाद पर ring guard cream लगाने से दाद ठीक होता है।

povidone iodine ointment usp use in hindi – povidone आयोडीन मरहम usp का उपयोग कैसे करें?

povidonai aayodeen maraham usp ka upayog hindee mein – पोवीडोन आयोडीन का इस्तेमाल bacteria के संक्रमण को रोकने के लिए किया जाता है

यह एक antiseptic है जो bacterial infection में इस्तेमाल होता है।

पोवीडोन आयोडीन दाद बढ़ाने वाले bacteria को मारता है क्योंकि यह एक anti-bacterial ointment है।

itch guard cream uses – खुजली कार्ड क्रीम का उपयोग कैसे करें ?

Khujali guard cream in Hindi – इच गार्ड क्रीम skin infection के treatment के लिए use की जाने वाली cream है।

यह क्रीम skin fungal imfections के लिए use की जाती है।

skin पर ज्यादा पसीना आने से बैक्टीरियल इंफेक्शन bacterial infection बनने लगता है।

itch guard cream बैक्टीरियल इंफेक्शन की वजह से होने वाली itching को रोकता है।

रिंगवर्म ट्रीटमेंट इन हिंदी – ringworm treatment in Hindi ?

Ringworm kya hai? – रिंगवॉर्म भी एक तरह का skin infection या फंगल इन्फेक्शन fungal infection ही है। ringworm भी दाद की तरह skin पर बढ़ता है।

अगर आपको ringworm या कोई infection है तो दिन में दो बार नीम के पानी से नहाए।

शरीर पर पसीना कम आने दे।

साफ सफाई का ध्यान रखें।

रिंगवॉर्म के treatment के लिए आप रिंग गार्ड ring guard cream का इस्तेमाल कर सकते हैं ।
रिंगवॉर्म ट्रीटमेंट ringworm treatment के लिए यह काफी असरदार है।
यह एक antifungal cream है।

betadine tube use in hindi – बेटाडिन ट्यूब का इस्तेमाल कैसे करें?

betadine एक antibiotic और antibacterial है जिसका इस्तेमाल किसी भी घाव या चोट पर होने वाले bacteria के संक्रमण को रोकने के लिए किया जाता है।

बीटाडीन betadineका इस्तेमाल फंगल इन्फेक्शन fungal infection को ठीक करने के लिए भी किया जाता है।

guptang me khujli ka ilaj in hindi – गुप्तांग में खुजली का इलाज क्या है ?

गुप्तांग में खुजली होने पर क्या करें ? – गुप्तांग में खुजली ज्यादातर महिलाओं को होती है
यह भी एक तरह का बैक्टीरियल इंफेक्शन bacterial infection होता है जो गीलापन रहने की वजह से होता है।

जरूरी नहीं कि vaginal infection यानी कि गुप्तांग में खुजली सिर्फ औरतों को ही हो यह किसी भी उम्र की लड़की को भी हो सकता है।

इसके लिए जरूरी है गुप्तांग को साफ रखना जिससे कि bacteria का संक्रमण ना बढ़े।

गुप्तांग में खुजली के उपाय – guptaang mein khujalee ke upaay kya hai?

Remedy for itching in genitals – सबसे पहला है गुप्तांग को साफ रखना जिससे बैक्टीरियल इनफेक्शन bacterial infection ना बढ़े।

fungal infection को रोकने के लिए cream का इस्तेमाल करें।

anti fungal tablets का सेवन करें।

ज्यादा तकलीफ होने पर डॉक्टर से consult करें।

miconazole nitrate cream ip cream use – miconazole नाइट्रेट क्रीम आईपी क्रीम का उपयोग कैसे करें ?

michonazolai naitret kreem aaeepee kreem ka upayog kaise karen – miconazole nitrate भी एक Anti फंगल इंफेक्शन क्रीम है जिसका इस्तेमाल fungal infection को रोकने के लिए किया जाता है।

miconazole nitrate क्रीम प्रभावित या संक्रमित जगह पर लगाने से यह infection बनाने वाले कीटाणुओं को मार देता है जिसके कारण दाद बढ़ता नहीं और धीरे-धीरे ठीक हो जाता है।

आज का हमारा article था दाद खुजली और fungal infection से related आशा करते हैं हमारी दी गई जानकारी आपके लिए helpful होगी और आपको पसंद आई होगी।