gay ki awaaz kaisi hoti hai? – गाय की आवाज कैसी होती है? दोस्तो आप सब जानते होंगे कि गाय एक शांत स्वभाव कि तथा सौम्य पशु है। Hindu धर्म में गाय को पवित्र तथा पूजनीय माना जाता है। यहां तक कि ऋषि मुनि तथा ज्योतिषियों ने भी गाय की महत्वपूर्ण Mahima बताई गई है।

गाय हमारे जीवन में शुभ फल प्रदान करने वाली पशु भी मानी जाती है । अगर हम कहीं जा रहे हैं, रस्ते में gay मिल जाए या अपने बच्चे को दूध पिलाती हुई गाय सामने आ जाती है तो ऐसा माना जाता है कि हमारी Yatra सफल तथा मंगल मय होती है।

आप सभी को पता होगा कि भारत में गाय को देवी का दर्जा दिया गया है। भारतवर्ष में ऐसी मान्यता है कि गाय के शरीर में 33 करोड़ देवी देवताओं का निवास है।

इसी के कारण हम Diwali के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा के अवसर पर गायों की विशेष प्रकार से पूजा की जाती है तथा उनको mor pankh (पंख) से सजाया जाता है।

प्राचीन भारत से ही गाय को सुख और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। प्राचीन काल में जिस राज्य में जितनी ज्यादा गाये होती थी उस राज्य को उतना ही ज्यादा संपन्न माना जाता था।

इसके साथ ही Shree Krishna के गाय के प्रति प्रेम को भला कौन भूल सकता है। इसी कारण श्री कृष्ण का दूसरा नाम गोपाल(gopal) भी है।

कुल मिलाकर गाय का मनुष्य जीवन में काफी ज्यादा महत्व है। गाय आज भी ग्रामीण अर्थव्यवस्था में रीड की हड्डी है।

आइए अब हम जान लेते हैं कि gay की आवाज कैसी होती है। अगर आप भी जानते हैं तो अच्छी बात है। अगर आपने इससे पहले कभी भी गाय की आवाज नहीं सुनी है या आप नहीं जानते हैं कि gay ki awaaz kaisi hoti hai.

तो हम आपको बता दे कि गाय रंभाती है यानी कि जब भी गाय रंभाती है तो गाय के मुंह से मां (Maa) की आवाज निकलती है यानी कि गाय की आवाज “मां” (maa) जैसी आवाज की तरह होती है।